Top 5 राजनीति

निलंबित सांसदों को चाय पिलाने पहुंचे हरिवंश, PM ने किया समर्थन, कहा- बिहार हमें लोकतंत्र सिखाता है

राज्यसभा से निलंबित किए गए आठ सांसद कल रात से ही संसद की लॉन में प्रदर्शन कर रहे हैं. रातभर बाहर बैठे इन सांसदों के लिए राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश मंगलवार की सुबह चाय लेकर पहुंचे. हालांकि, इन सांसदों ने विरोध में चाय पीने से इनकार कर दिया. अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनकी तारीफ की है.

पीएम मोदी ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि ‘बिहार की धरती सदियों से हमें लोकतंत्र के मूल्य सिखा रही है. उसी प्रेरणा के स्रोत बिहार के सांसद और राज्यसभा के उपसभापति श्री हरिवंश जी का प्रेरणादायी और कुशल राजनीतिज्ञ जैसा आचरण प्रत्येक लोकतंत्र प्रेमी को गौरवान्वित करेगा.

 

राज्यसभा में कृषि विधेयकों को पारित करने के दौरान विपक्षी सांसदों के व्यवहार से दुखी उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने कहा है कि वह इसे लेकर एक दिन के उपवास पर बैठेंगे.  हरिवंश ने इस पूरे मामले को लेकर उपराष्‍ट्रपति व राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को पत्र लिखा है. उन्‍होंने पत्र में कहा कि 20 सितंबर को राज्‍यसभा में जो कुछ भी हुआ, उससे मैं पिछले दो दिनों से आत्‍मपीड़ा, आत्म तनाव और मानसिक वेदना में हूं. मैं पूरी रात सो नहीं पाया.

 

हरिवंश ने पत्र में लिखा है, ‘भगवान बुद्ध मेरे जीवन के प्रेरणास्रोत रहे हैं. बिहार की धरती पर ही आत्‍मज्ञान पानी वाले बुद्ध ने कहा था- आत्‍मदीपो भव:. मुझे लगा कि उच्‍च सदन के मर्यादित पीठ पर मेरे साथ जो अपमानजनक व्‍यवहार हुआ,उसके लिए मुझे एक दिन का उपवास करना चाहिए. शायद मेरे इस उपवास से सदन में इस तरह का आचरण करने वाले माननीय सदस्‍यों के अंदर आत्‍मशुद्धि का भाव जागृत हो जाए.’

दरअसल संसद के मॉनसून सत्र के दौरान रविवार को राज्‍यसभा में कृषि विधेयकों पर काफी हंगामा देखने को मिला था. कुछ राज्‍यसभा सदस्‍यों ने उपसभापति हरिवंश के साथ अमर्यादित आचरण तक किया. इसके बाद 8 सांसदों को सोमवार को सभापति वेंकैया नायडू ने पहले हफ्ते भर और फिर पूरे सत्र के लिए  निलंबित कर दिया. ये सभी सांसद तब से संसद परिसर में बने महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास धरने पर बैठे हैं. वहीं बुधवार सुबह इन सांसदों से मिलने पहुंचे. इस दौरान वह उनके लिए चाय और नाश्ता भी लेकर आए.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *