Top 5 मध्य प्रदेश

दिग्विजय के ट्वीट: अशुभ मुहूर्त में भूमिपूजन से बीजेपी नेताओं पर आया कोरोना संकट

भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सोमवार को अयोध्या में राम जन्मभूमि पूजन को लेकर कई ट्वीट करते हुए इसके मुहूर्त पर कई सवाल उठाये उठाये हैं.

बतादें कि पाँच अगस्त यानी की बुधवार को अयोध्या राम मंदिर का भूमि पूजन होना है. पीएम नरेंद्र मोदी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत सहित कई वशिष्ठ लोग ह्समैल होंगे, लेकिन भूमिपूजन के मुहूर्त को लेकर देश में  बीजेपी और कांग्रेस के बीच बयानबाजी तेज हो गयी है. सोमवार को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के कई ट्वीट कर भूमिपूजन की टाइमिंग को लेकर सवाल खड़े किये.

24 घंटे में अमेरिका-ब्राजील से ज्यादा दर्ज हुए कोरोना वायरस के नये मामले

दिग्विजय ने कहा कि भगवान राम के मंदिर पर सैकड़ों वर्ष तक विवाद रहा, इसको जो राजनीतिक रूप दिया जा रहा है मेरी आपत्ति उसपर है. दिग्विजय सिंह ने कहा कि जब पूरे देश में ये परंपरा चल रही है कि हर शुभ काम में मुहूर्त देखा जाता है, अभी चातुर्मास चल रहा है और भादो है, तो फिर 5 अगस्त को भूमिपूजन क्यों हो रहा है.

अमित शाह एक कोरोना वायरस संक्रमित होने को भी उन्होंने इसे अयोध्या में होने वाले भूमिपूजन से जोड़ दिया. दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि, ‘5 अगस्त को भगवान राम के मंदिर शिलान्यास के अशुभ मुहुर्त के बारे में विस्तार से जगदगुरू स्वामी स्वरूपानंद जी महाराज ने सचेत किया था. मोदी जी की सुविधा पर यह अशुभ मुहुर्त निकाला गया. यानि मोदी जी हिंदू धर्म की हजारो वर्षों की स्थापित मान्यताओं से बड़े हैं!! क्या यही हिंदुत्व है? अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि, ‘मोदी जी आप अशुभ मुहुर्त में भगवान राम मंदिर का शिलान्यास कर और कितने लोगों को अस्पताल भिजवाना चाहते हैं? योगी जी आप ही मोदी जी को समझाइए. आपके रहते हुए सनातन धर्म की सारी मर्यादाओं को क्यो तोड़ा जा रहा है? और आपकी क्या मजबूरी है जो आप यह सब होने दे रहे हैं?

भूमिपूजन से जुड़ी तैयारियों का जायजा लेने अयोध्या पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ

अब एक और प्रश्न उपस्थित होता है. उत्तर प्रदेश की मंत्री की कोरोना से मौत हो गयी. उत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष कोरोना पोजिटिव भारत के गृहमंत्री कोरोना पोजिटिव.

इन हालातों में क्या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और भारत के प्रधानमंत्री को कोरोनटाइन नहीं होना चाहिए? क्या कोरोनटाइन में जाने की बाध्यता केवल आम जनता के लिए है? प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री के लिए नहीं है? कोरोनटाइन की समय सीमा १४ दिवस की है.

मैं मोदी जी से फिर अनुरोध करता हूँ ५ अगस्त के अशुभ मुहुर्त को टाल दीजिए. सैंकड़ों वर्षों के संघर्ष के बाद भगवान राम मंदिर निर्माण का योग आया है अपनी हठधर्मीता से इसमें विघ्न पड़ने से रोकिए.

सनातन हिंदू धर्म की मान्यताओं को नज़र अंदाज करने का नतीजा.

1- राम मंदिर के समस्त पुजारी कोरोना पोजिटिव

2- उत्तर प्रदेश की मंत्री कमला रानी वरुण का कोरोना से स्वर्गवास

3- उत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष कोरोना पोजिटिव अस्पताल में.

4- भारत के गृह मंत्री अमित शाह कोरोना पोजिटिव अस्पताल में.

5- मध्यप्रदेश के भाजपा के मुख्यमंत्री व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कोरोना पोजिटिव अस्पताल में

6- कर्नाटक के भाजपा के मुख्यमंत्री कोरोना पोजिटिव अस्पताल में.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *