Top 5 उत्तर प्रदेश

गाड़ी चलाते वक्त मोबाइल पर बात करना पड़ेगा महंगा: लगेगा 10 हजार रुपए का जुर्माना…

लखनऊ: अब गाड़ी चलाते समय अगर कोई भी ट्रैफिक  नियम का उल्लंघन उत्तर प्रदेश में महंगा पड़ सकता है. दरअसल उत्तर प्रदेश शासन ने मोटरयान नियमावली की बढ़ी हुई दर के अनुसार जुरमाना लगाने का फैसला किया है. जिसके बाद ट्रैफिक नियम तोड़ने पर आपको भारी भरकम जुरमाना देना पड़ सकता है.

बतादें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में ट्रैफिक नियमों का मखौल बनाने वालों के खिलाफ सख्त रुख अपनाया है. दरअसल शासन ने मोटरयान नियमावली के तहत बढ़ी हुई दर से जुर्माना लगाए जाने का आदेश जारी किया है. जिसके तहत अब उत्तर प्रदेश में गाड़ी चलाने के दौरान मोबाइल पर बात करते पकड़े जाने पर एक हजार से दस हजार तक जुर्माना देना पड़ सकता है.

कोरोना: 16 लाख से अधिक मामले, 24 घंटे में 55 हजार नये केस-799 की मौत   

शासनादेश के अनुसार अगर आप दो पहिया और चार पहिया गाड़ी चलाते समय मोबाइल पर बात करते हैं तो पहली बार एक हजार और दूसरी बार 10 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा. वहीँ बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन चलाते पकड़े जाने पर अब 1 हजार रुपए जुर्माना होगा. पार्किंग का उल्लंघन करने पर पहली बार 500 रुपए और दूसरी बार 1500 रुपए जुर्माना देना होगा. इसके साथ ही बिना सीट बेल्ट कार चलाने पर एक हजार और बिना लाइसेंस या 14 साल से कम उम्र के बच्चे के बिना वैध लाइसेंस के गाड़ी चलाने पर पांच हजार रुपए जुर्माना होगा.

दिल्ली में कोरोना से कैसे कम हों मौतें: सरकार ने बनाई कमेटी

इसके अलावा ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर गलत तथ्य देने पर अब 10 हजार जुर्माना देना होगा. फायर बिग्रेड की गाड़ी और एंबुलेंस को रास्ता नहीं देने पर 10 हजार रुपये का जुर्माना होगा.  दो पहिया वाहन पर तीन सवारी या इससे ज्यादा बैठाने पर एक हजार रुपए जुर्माना देना होगा.

रफ़्तार पर भी लगेगी जुर्माने की लगाम

उत्तर प्रदेश में लिमिट से तेज वाहन चालान एपर बी ही जुरमाना लगे जायेगा. जिसमें दो हजार से लेकर चार हजार तक जुरमाना शामिल है. शांत क्षेत्र में हॉर्न बजाने पर पहली बार में एक हजार तो दूसरी बार में दो हजार रुपए जुर्माना लगेगा. बिना बीमा के वाहन चलाने पर दो हजार और दूसरी बार में चार हजार रुपए जुर्माना होगा. किसी व्यक्ति द्वारा यातायात के नियमों के उल्लंघन पर वाहन चलवाने पर 10 हजार रुपए जुर्माना होगा. बिना पंजीकरण व निलंबित पंजीकरण वाले वाहन चलाने पर पांच हजार तो दूसरी बार पकड़े जाने 10 हजार रुपए जुर्माना होगा. जबकि ट्रैफिक अधिकारी की बात नहीं मानने और काम में बाधा डालने पर 1000 रुपये जुर्माना लगेगा.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *