Top 5 राजनीति

WB में पीएम मोदी: कहा इस चुनाव बाद मिलेगा गुंडई का नतीजा…

कोलकाता: पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार को वेस्ट बंगाल में विशाल जनसभा को संबोधित करने के लिए पहुंचे हुए हैं. जहाँ उनके निशाने पर ममता बनर्जी की सरकार है. यहाँ पीएम नरेंद्र मोदी ने ममता सरकार पर कई बड़े हमले करते हुए कहा कि ममता दीदी उन लोगों के साथ हैं जो सेना की कार्रवाई के सबूत मांगते हैं.

बतादें कि लोकसभा चुनाव पहला और दूसरा चरण बीत गया है. ऐसे में बाकी चरणों के लिए मतदान होना है. जिसको देखते हुए भारतीय जनता पार्टी का चुनावी प्रचार भी चरम पर पहुंचा गया है. शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी बिहार, बंगाल, उत्तर प्रदेश में चुनावी रैली करेंगे. शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी ममता बनर्जी के गढ़ वेस्ट बंगाल में जनसभा को संबोधित कर रहे हैं. यहाँ उन्होंने जनसभा के दौरान ममता सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि, ममत दीदी को इस चुनाव के नतीजे सच्चाई समझा देंगे.

जम्मू कश्मीर के बारामुला में सेना के गश्ती दल पर आतंकी हमला

पीएम मोदी ने अपनी सरकार की योजनाओं को भी गिनाया. उन्होंने कहा रेलवे के बड़े-बड़े काम ठप पड़े थे, हमारी सरकार ने रेलवे की पुरानी लाइनों का दोहरीकरण किया. दीदी भी तो रेल मंत्री थीं, लेकिन उन्होंने आपके लिए कुछ नहीं किया. हमारी सरकार ने गरीब को 5 लाख की मुफ्त स्वास्थ्य योजना दी. हमारी सरकार ने बंगाल में 70 लाख से ज्यादा किसानों के खाते में सीधी मदद की योजना बनाई है. आगे पीएम मोदी ने कहा कि, ममता सरकार ने यहाँ के लाभार्थियों की लिस्ट ही नहीं भेजी.

हां और न में उलझा AAP-कांग्रेस का गठबंधन: फिर आई बड़ी खबर

क्योंकि इसमें टोलाबाजी का कोई स्कोप नहीं है, ये सीधा आपके बैंक खाते में जमा होने हैं. उन्होंने कहा कि मां भारती में आस्था रखने वाले जो लोग बंटवारे के कारण दूसरे देशों में चले गए थे, आज जब वहां उनके साथ उनकी आस्था की वजह से अत्याचार हो रहा है तो वो कहां जाएंगे? उन्हें नर्क की जिंदगी से निकालना हर हिंदुस्तानी और हर सरकार का कर्तव्य है. जब हमारे वीर सपूतों ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियों को साफ किया, तब दीदी उन लोगों में से थीं, जिन्होंने इसका सबूत मांगा.

एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मौत हार्ट अटैक से नहीं, हत्या का केस दर्ज

अरे दीदी, सबूत ही खोजने हैं तो चिटफंड के घोटालेबाज़ों के सबूत खोजो. आगे पीएम मोदी ने कहा, इनके पास गुंडों को देने के लिए पैसा है, लेकिन कर्मचारियों को DA देने के लिए पैसे नहीं हैं. पहले गरीबों के पसीने की कमाई नारदा, सारदा और रोज़वैली ने लूट ली और फिर दीदी ने घोटालेबाज़ों को ही सांसद और मंत्री बना दिया. इतना ही नहीं भ्रष्टाचारियों के लिए तो वो धरने तक पर बैठ गईं.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *