Top 5 गुजरात

जमातियों की तलाश में गयी पुलिस पर पथराव: विरोध में की नारेबाजी

गांधीनगर: दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात की लापरवाही ने पूरे देश को कोरोना वायरस की आग में झोंक दिया है. ऐसे में जहाँ सरकार, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग संकट की स्थितियों को संभालने में लगा हुआ है. वहीँ विशेष समुदाय के लोग अभी भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं.

बतादें कि कोरोना के डर के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित तबलीगी जमात के मरकज का मामला काफी बिगड़ चूका है. जिससे पूरे देश में कोरोना वायरस का ख़तरा बढ़ गया है. उधर जमात में शामिल सैकड़ों कोरोना संदिग्धों को खोजने के लिए प्रशासन देशभर में अभियान चला रहा है. जिससे संदिग्ध कोरोना संक्रमितों और उनके परिवार और समाज की जान को बचाई जा सके. लेकिन ऐसे मौके पर भी विशेष समुदाय के लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं.

तबलीगी जमात पर फूटा सरकार का गुस्सा: कहा पूरे देश को संकट में डाला

बिहार के बाद अब गुजरात में भी जमातियों को खोजने गयी पुलिस पर हमला किया गया है. गुजरात के अहमदाबाद में भी जमात के मरकज से लौटे लोगों की तलाश की जा रही है. यहाँ के गोमतीपुर इलाके के कसाई नी चाल इलाके में जमातियों के बारे में जानकारी जुटाने गयी पुलिस पर लोगों ने छतों से पथराव कर दिया. जिससे पुलिस को वापस लौटना पड़ा. यह कोई पहला मामला नहीं है. कथित रूप से कोरोना को अल्लाह की किताब कुरान से निकला बताने वाले मदरसा छाप विशेष समुदाय के लोगों ने बिहार के मधुबनी में भी पुलिस टीम पर हमला किया.

तबलीगी जमात पर फूटा सरकार का गुस्सा: कहा पूरे देश को संकट में डाला

यहाँ फायरिंग करने तक की बात सामने आई है. दरअसल जमात में शामिल होकर वापस लौटे लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं. ऐसे में सरकारें इन लोगों की जांच करवाकर इन्हें क्वारनटीन कर रही है. जिससे जमातियों, उनके परिवार और समाज की जान बचाई जा सके. लेकिन यह लोग मानने को तैयार नहीं हैं और खुद को परिवार और अपने समाज की जान को जोखिम में डाल रहे हैं.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *